गर्मी के आते ही सतर्क हुए युवा

गर्मी के शुरू होते ही पौधों के बचाव की ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है | और इसी ज़िम्मेदारी को बखुभी निभा रहे हैं पुकार फाउण्डेशन के योद्धा | जिन्होंने प्रकृति के लिए अपना 285वाँ रविवार समर्पित किया | संस्था लगातार कार्य करते हुए अपने 300वें रविवार की ओर बढ़ रही है |

Pukaar Foundation Group picture 285th Sunday
पुकार के 285वे रविवार पर एकत्रित हुए युवा

पुकार के बारें में जानने के लिए क्लिक करें । 

गर्मी से बचाव के लिए समर्पित किया 285वाँ रविवार

दिनांक 23 फरवरी 2020 को पुकार फाउण्डेशन के युवाओं ने अपना 285वाँ रविवार जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान में मनाया | सदस्यों ने गर्मी से बचाव के लिए मियावाकी जंगल में लगे 2000 पौधों पर सुखी घास (पलवार) बिछाई | एवं सभी पौधों को पानी पिलाकर उनकी देखरेख सुनिश्चित की गयी ।

ज़मीन में नमी एवं उर्वरक क्षमता बनाए रखने के लिए आवश्यक है पलवार

पुकार के सदस्य मनन ने बताया कि पलवार बिछाने से ज़मीन में नमी बनी रहती है | पलवार एक तरह से परत का काम करती है जो सूर्य की धूप को सीधा ज़मीन पर पड़ने से रोकती है | जिससे ज़मीन के अंदर के पानी के वाष्पीकरण की प्रक्रिया धीमी हो जाती है | साथ ही इससे ज़मीन में धरण (ह्यूमस) भी पनपती है | जो ज़मीन की उर्वरक क्षमता को बढ़ाने में सहायक है |

पुकार के लगातार कार्यों के जुडने के लिए क्लिक करें |

पनप रहें हैं कई सूक्ष्म जीव

New lives at forest
मियावाकी जंगल में पनपते सूक्ष्म जीव

सदस्यों ने बताया कि मात्र 3 माह में ही मियावाकी जंगल में कई तरह के सूक्ष्म जीव आने लगे हैं | इस तरह जंगल में कई ऐसे जीव भी हैं जो काफी दुर्लभ हैं | इन्हीं के साथ कई तरह की चिड़ीयाएँ भी आने लगी हैं जिन्हें यहाँ अपना भोजन आसानी से मिल रहा है |

मियावाकी जंगल के बारे में जानने के लिए क्लिक करें |

इस रविवार रखरखाव कार्यक्रम में दीपांकर,भुवनेश,शक्ति,मनन,आशीष,कपिल,प्रतीक,अभय साथ ही से नाटयांश संस्था से मोहम्मद रिजवान एवं महेश जोशी उपस्थित रहे |

 

Aashish Brijwasi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

In 2019, we planted 10000+ trees to make our environment better. Your contribution can enable us to grow 50,000 trees more.

Our goal is to support our farmers

Donate for trees

Donate now