पर्यावरण व बदलाव की युवाओं की पहल

युवा कैसे बने पर्यावरण हेतु प्रेरणा

जी हाँ, किसी भी कार्य को पूर्ण करना ही सबका लक्ष्य होता है और जब उस लक्ष्य की प्राप्ति हो जाती है तो वो आनंद भी सुखद होता है। ऐसा ही सुखद आनंद कुछ युवाओं को पर्यावरण हेतु कार्य करते हुए मिला, हालांकि यह सफलता का सफर उन युवाओं के लिए इतना आसान नहीं था।परन्तु धैर्य और मन में कुछ अच्छा करने की सोच समय-समय पर इन युवाओं का हौसला बढ़ाने के लिए काफी थी |

पार्क को नया जीवन देने का संकल्प

एक समय वीरान कचरा पात्र बना हुआ क्षेत्र आज हरे-भरे पेड़ों से सुशोभित पार्क है। यह संकेत है की यदि किसी कार्य को दृढ़ निश्चय से किया जाए तो प्रकृति भी उसमें सहयोग करती है |

Example of environment ngo Pukaar Foundation Udaipur
starting phase April 2018

बात हो रही है पुकार फ़ाउंडेशन के युवा सदस्यों की जिन्होंने आज से डेढ़ वर्ष पूर्व कुछ ऐसा करने की ठानी थी जिसका प्रभाव मानवता पर लंबे समय तक रहे |

बदलाव की शुरुआत, पर्यावरण की बेहतरी

पुकार फ़ाउंडेशन के सदस्यों ने पिछले वर्ष 1 अप्रैल 2018 को प्रकृति की सेवा में अपना 200वां रविवार समर्पित किया था। तब सभी सदस्यों ने मिलकर ठान लिया था कि, बदलाव की ओर पहला कदम हमें ही उठाना है और जिससे लोग प्रेरित हो सकें।

इसी सोच के चलते युवाओं ने 1 अप्रैल 2018 को राजस्थान के उदयपुर शहर के सविना क्षेत्र मे स्थित बरकत कॉलोनी पार्क की सफाई कर पौधारोपण किया। पौधारोपण के बाद लगातार समय-समय पर सदस्यों द्वारा रखरखाव गतिविधियाँ आयोजित की गयी जिसमें कॉलोनीवासियों ने पूरा साथ निभाया था |

Udaipur youth ngo makes difference
October 2019 picture

पर्यावरण के लिए प्रयास

पर्यावरण को बेहतर करने की शुरुआत जो 6 वर्षो पहले युवाओं द्वारा की गई उसका परिणाम अब जाकर दिखने लगा हैं। पार्क में लगे अधिकतर पौधे आज पेड़ बन चुके हैं जो कई सारे सूक्ष्म जीव एवं पक्षियों का आशियाना बना हुआ है। कई बार शरारती बच्चों द्वारा छोटे पौधों को तोड़ा गया, पर पौधों की परवरिश से वे आज पेड़ बनकर मिसाल कायम कर रहे है |

Environment, NGO, Change makers,
impact full results by Pukaar foundation in just 18 months

पुकार की शुरुआत  के बारे  में अंग्रेेेजी में पढ़े ।

कटते मुम्बई के आरे फारेस्ट और बढ़ते क्लाइमेट चेंज को कोसने की बजाए, हमें पुकार फाउंडेशन जैसे इस तरह के क़दम अपने गाँव, कस्बे एवं शहरों में उठाने होंगे।

संस्था के सदस्य उन सभी कॉलोनीवासियों एवं युवा सदस्य जो इस मुहिम को सफल बनाने के लिए आगे आए उन्हे धन्यवाद देते हैं |

पुकार से जुड़ने के लिए 7229988335 पर कॉल करें या पुकार वेबसाइट पर सम्पर्क कर सकते है।

Aashish Brijwasi

3 thoughts on “पर्यावरण व बदलाव की युवाओं की पहल

  1. IT is great to see this initiative in Udaipur – the city of lakes -These Journey are never easy and require almost single minded attitude and it is great to see that you have it in you. Pl continue this work.

    I would urge you to maintain the website and upload information. It would help in spreading the awareness – take inspiration from “Give Me Trees” in Delhi and increase your reach. I look forward to meet you in my next trip to Udaipur- best wishes

  2. I was the part of that change. It was all about the hard work and determination of all the warriors who didn’t lose hope and kept working hard.

  3. Congratulations from all of us !
    there are so many people who are talking about the nature and saying that we have to do something |but there is no ‘WE’ who is dong anything.
    I congratulate all Pukaar people that they are doing such a great work by taking these steps towards a better future.
    may God bless you all !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

In July, August and September of 2020, we planted 15000+ fruit trees to make our environment better. Your contribution can enable us to grow 50,000 trees more.

Our goal is to support our farmers.

Donate for trees